Lifestyle | झूठी तसल्ली देने से क्या होता है?

Lifestyle | झूठी तसल्ली देने से क्या होता है? 

झूठी तसल्ली देना या झूठी सुरक्षा देना एक असत्य या अविश्वासनीय आश्वासन प्रदान करना है। जब किसी को किसी चीज़ या स्थिति के बारे में गलत जानकारी या झूठी सुरक्षा दी जाती है, तो इससे कई नकरात्मक प्रभाव हो सकते हैं🔴

  1. विश्वासघात🔴 झूठी तसल्ली देना व्यक्ति के विश्वास को कमजोर कर सकता है। एक बार जब किसी व्यक्ति को पता चलता है कि उसे झूठा आश्वासन दिया गया है, तो वह उस व्यक्ति पर भरोसा करने में संकोच कर सकता है।
  2. संबंध टूट सकते हैं🔴 झूठी तसल्ली से संबंधों में विघ्न उत्पन्न हो सकता है और इससे संबंध टूट सकते हैं। विश्वासघात और झूठे आश्वासन के कारण संबंधों में कठिनाईयां आ सकती हैं।
  3. सामाजिक दुर्गमता🔴 यदि किसी व्यक्ति ने सामाजिक संबंधों में झूठी तसल्ली दी है, तो उसका सामाजिक दर्जा कम हो सकता है और लोग उससे दूर रह सकते हैं।
  4. आत्मघाती प्रभाव🔴 झूठी तसल्ली देने से व्यक्ति खुद को भी आत्मघाती महसूस कर सकता है, क्योंकि इससे उसका विश्वास और स्वाभाविकता कमजोर हो सकता है।

सच्चाई और ईमानदारी का मूल्य बहुत अधिक होता है, और झूठी तसल्ली देने से बचना चाहिए ताकि सही और स्थायी संबंध बना रह सकें

Check IPO allotment | आईपीओ आवंटन की जांच कैसे करें ?
Check IPO allotment | आईपीओ आवंटन की जांच कैसे करें ?

झूठी तसल्ली देना, यानी बिना सच्चाई के किसी को शांति, आत्मविश्वास या सहारा देना, आमतौर पर गलत और अनैतिक माना जाता है। यह किसी को धोखा देना और भ्रांतिपूर्ण सूचना प्रदान करना हो सकता है, जिससे व्यक्ति गुमराह हो सकता है और उसे आत्मविश्वास में कमी आ सकती है।

झूठी तसल्ली देने से सामाजिक संबंधों में भी खलबली उत्पन्न हो सकती है, क्योंकि यह विश्वासघात का कारण बन सकता है और लोग आपकी बातों पर यकीन करने में हिचकिचा सकते हैं। इससे उदारता और समर्थन की भावना में कमी हो सकती है, जिससे आपका अच्छा समर्थन और साथीपन मिलना मुश्किल हो सकता है।

आत्मा में सत्य रहना अच्छा होता है, और असलीता को स्वीकारना हमारे स्वास्थ्य और समाज में मजबूती लाता है।

Posts by category

Dayanand Kumar Deepak

Dayanand Kumar Deepak is the MD (Managing Director) and CEO (Chief Executive Officer) of biharisir.com and Whole Time Director, Independent Director, Shareholder/Investor Grievance Committee, Remuneration Committee.

Leave a Reply